एक चाय बेचने वाले पर निकला 51 करोड़ का बैक लोन

227

हरियाणा के कुरुक्षेत्र से बीते दिन एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. यहाँ एक चाय की रेहड़ी लगा कर दिहाड़ी कमाने वाले व्यक्ति पर 50.76 करोड़ रूपये का बैंक लोन है. दरअसल इस चाय वाले व्यक्ति ने लॉकडाउन के दौरान दूधवाले व राशनवाले की उधारी चुकाने के लिए एक फाइनेंस कंपनी में 50 हजार रूपये का लोन अप्लाई किया था. लेकिन हैरत उस समय हुई जब फाइनेंस कंपनी ने जांच के बाद व्यक्ति पर पहले से 50 करोड़ 76 लाख रूपये का कर्जा बताया.

कंपनी ने लोन देने से किया इनकार

बता दें कि यह पूरा मामला कुरुक्षेत्र के दयालपुर गाँव के राजकुमार का है. इस व्यक्ति ने लॉकडाउन के बाद दोबारा से अपना काम शुरू करने और राशनवालों का उधार चुकाने के लिए 50 हजार का पर्सनल लोन अप्लाई किया था. लेकिन फाइनेंस कंपनी ने उसे यह कह कर लोन देने से मना कर दिया कि उसके नाम पहले से बैंक का 50 करोड़ 76 लाख रूपये का कर्जा है. यह लोन 27 अप्रैल साल 2013 का दिखाया गया है. इस बारे में डीसी धीरेंद्र खडगटा ने बताया कि ऐसा कोई मामला उनकी नजर में नहीं आया है लेकिन अब ऐसी कोई शिकायत मिलती है तो जल्द ही कारवाई शुरू कर दी जाएगी.

सिबिल रिकॉर्ड है खराब

दयालपुर के राजकुमार ने बताया कि वह कुरुक्षेत्र के थानेसर शहर में चाय की रेहड़ी लगाता है. लेकिन लॉकडाउन में उसका काम बंद था ऐसे में उस पर दूध वाले और राशनवाले का उधार बाकी था. अनलॉक-1 की प्रक्रिया के दौरान उसने रेहड़ी लगानी शुरू कर दी थी लेकिन चाय की मांग अब पहले से काफी कम है. इसके बाद जब उसने फाइनेंस कंपनी से 50 हजार का पर्सनल लोन माँगा तो 16 जुलाई को उसको यह कह कर मना कर दिया गया कि उसका सिबिल स्कोर ठीक नहीं है इसलिए अब उसे लोन नहीं दिया जा सकता. जिला अग्रणी बैंक के एलडीएम हरिसिंह ने कहा कि ऐसी कोई शिकायत अभी नहीं आई है लेकिन अगर इस मामले में कोई तकनीकी गड़बड़ी है तो बैंक मेनेजर से मिला कर ठीक किया जा सकता है.

Previous articleहरियाणा बोर्ड 12वीं का रिजल्ट आज होगा घोषित – HBSE 12th Result
Next articleजानिए क्या करते हैं बाबा रामदेव के पिता रामनिवास यादव – पूरी कहानी