अपनी मेहनत के दम पर बने कॉन्स्टेबल से सीधा ACP – बड़ी कामयाबी

379

लगातार 10 साल दिल्ली पुलिस के कॉन्स्टेबल रहे फिरोज आलम पहले के कॉन्स्टेबल फिरोज आलमनाम से पहचाने जाते थे। लेकिन अब वे एसीपी फिरोज आलम के नाम से जाने-पहचाने जाते है। कॉन्स्टेबल से ACP बने Firoz Alam ने 10 साल की नौकरी के दौरान कड़ी मेहनत करी और पिछले वर्ष UPSC की परीक्षा को पास कर लिया। जिसके बाद वह दिल्ली पुलिस में ही एसीपी (ACP) बन गए हैं।

आपको बता दें कि फिरोज मूल रूप से हापुड़ पिलखुवा के रहने वाले हैं। उनका जन्‍म पिलखुवा के आजमपुर देहरा गांव में मोहम्मद शहादत व मुन्नी बानो के घर हुआ था। एसीपी फिरोज आलम ने 12वीं कक्षा पास करने के बाद 2010 में दिल्ली पुलिस में बतौर कॉन्स्टेबल नौकरी शुरू की। फिरोज के पांच भाई व तीन बहन हैं।

फिरोज आलम ने बताया कि 31 मार्च 2021 का दिन दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल के पद पर उनका आखरी दिन था। इसके अगले ही दिन जब वह कंधे पर सितारों वाली वर्दी के साथ एसीपी के तौर पर दिल्ली पुलिस बल में दोबारा शामिल हुए। इसमें एक रोमांचक चीज़ थी की 1 दिन पहले तक उन्हें ‘भाई’ कहने वाले उनके साथी कांस्टेबल अब उन्हें ‘सर’ कहकर बुला रहे थे. वह 10 साल तक जिन्हें ‘सर’ बुलाते रहे अब उनके समकक्ष खड़े थे।

Previous articleऑक्सीजन सप्लाई में लगी है भगत सिंह के विचारों पर चलने वाली युवा शक्ति NGO
Next articleकिसान की बेटी बनी वर्ल्ड क्लास बॉक्सर – जानिए स्वीटी बूरा की पूरी कहानी