कृषि मंत्री ने नहीं फहराया झण्डा – सता रहा था किसानों का डर

175

कृषि मंत्री ने किसानों के डर से अबकि बार तिरंगा झंडा नहीं फहराया। बता दें की कृषि आंदोलन के चलते सभी नेता अपनी सुरक्षा देख रहें हैं क्योंकि किसानों ने करनाल के कैमला में मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर की रैली को होने नहीं दिया था। इस सब को देखते हुए कृषि मंत्री ने अपनी सुरक्षा के लिहाज़ से तिरंगा ना फहराने का फ़ैसला लिया था जिसने भाजपा नेताओं की नाक कटवा कर रख दी, तो स्थानीय प्रसाशन ने झंडा फहराकर ऐन वक्त पर लाज बचा भी ली।

बता दें कि किसान आंदोलन के चलते नेताओं के दिल मे डर ऐसा बैठा की अफरा-तफरी में करीब दस जगह कार्यक्रमों में बदलाव कर दिया गया। आपको बता दें कि कई जगहों पर भाजपा नेताओं की जगह जिला प्रसाशन ने झंडा फहरा कर नेताओ की लाज बचा ली। गौरतलब है कि किसान नेताओं ने 26 जनवरी यानी गणतंत्र दिवस के पावन पर्व पर किसी भी भाजपा नेता को झंडा न फहरा देने की धमकी दी थी। इसी के चलते रोहतक में कृषि मंत्री जेपी दलाल ने झंडा फहराना था लेकिन डर के मारे कार्यक्रमो में बदलाव किया गया और उनकी जगह स्थानीय प्रसाशन ने झंडा फहराया।

Previous articleफरीदाबाद में 20 से ज्यादा किसान नेता गिरफ्तार – पुलिस ने किया लाठीचार्ज
Next articleजब एक IPS अफसर के सामने छोटे बच्चे के सामने की ड्रिल तो बोले ट्रेनिंग के दिन याद आ गये