दमदार आदमी के दमदार काम – IAS अशोक खेमका

283

संसार क्रान्ति पढ़ने वाले सारे पाठकों को राम राम. आज हम बात करने जा रहें हैं हरियाणा में सबसे चर्चित IAS अधिकारी की. शायद आप समझ गये होंगे को हम अशोक खेमका की बात कर रहें हैं. अशोक खेमका हरियाणा के इकलौते ऐसे IAS अफसर हैं जिनकी 27 साल की नौकरी में 53 ट्रान्स्फर हो चुके हैं. अब अशोक खेमका का नाम एक बार फिर चर्चा में आया हैं. यह चर्चा ट्रान्स्फर की वजह से नहीं बल्कि एक किताब को लेकर हो रही हैं. दरअसल अशोक खेमका के ऊपर एक किताब आ रहीं हैं. किताब का नाम जस्ट ट्रांसफर्ड – द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ अशोक खेमका’ है. आपको बता दें की इस किताब को दिल्ली के 2 पत्रकारों नें लिखा हैं, जिनका नाम भवदीप कंग व नमिता काला हैं.

कब-कब हुए खेमका के तबादला

अगर देखा जाए तो खेमका के तबादले कांग्रेस और भाजपा दोनों के राज में हुए. अशोक खेमका के आजतक 53 बार तबादले हो चुके हैं जो बहुत मायने रखता हैं एक अधिकारी के लिए. सोचने की बात यह हैं की खेमका के इतने ट्रान्स्फ़र क्यों हुए. जब संसार क्रांति पत्रकार नवीन नरवाना नें विशेषज्ञों से बातचीत की तो उन्होंने बताया की खेमका नें कभी समझौता नहीं किया. उन्होंने गलत काम को आड़े हाथों से लिया. इसी लिए सारी सरकारों में उन्हें बार-बार ट्रान्स्फर सहना पड़ता हैं. आपको बता दें की अशोक खेमका सबसे ज़्यादा चर्चा में तब आए थे जब उन्होंने सोनिया गांधी के दामाद रॉबर्ट वाड्रा और डीएलएफ कम्पनी के बीच हुए जमीनी सौदे का म्यूटेंशन रद्द करने का आदेश दिया था.

किताब से जुड़े विशेषज्ञों नें हमारे पत्रकार से बातचीत में एक बड़ी जानकरी साँझा करते हुए कहा की अशोक खेमका के तबादलों को लेकर यह किताब हरियाणा सरकार के कुछ अंदरूनी राज भी खोलेगी. साथ ही किताब में बताया गया हैं की कैसे एक मध्यम वर्गीय परिवार का बच्चा कम्प्यूटर साइंस में इंजिनायिंग की पढ़ाई करके UPSE तक पहुँचा और IAS अफसर बना.

Previous articleप्राइवेट स्कूलों में मुफ्त दाखिले का आखरी मौका – करें ये काम
Next articleपकौड़े बेचने वाले को 9 करोड़ का नोटिस