चीन को 4 हजार करोड़ की चपत – अबकी बार बिकी हिंदुस्तानी रखियाँ

147

चीन को करारी हार देने के लिए इस साल व्यापारियों के संगठन कंफडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स (CAIT) ने एक नए अभियान की शुरुआत की है. इस अभियान का नाम ‘हिंदुस्तानी राखी’ रखा गया है. इस अभियान की मदद से चीन को लगभग 4 हजार करोड़ रूपये की चपत लग सकती है.

व्यापारियों के इस संगठन के अनुसार भारत में हर साल लगभग छह हजार करोड़ रूपये की राखी का कारोबार किया जाता है. इसमें लगभग 4 हजार करोड़ रूपये केवल चीन की तरफ से योगदान के तौर पर शामिल होते हैं. ऐसे में अब चीनी राखी का बहिष्कार किया गया है. बता दें कि इस संगठन ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को भी करीब पांच हजार राखियाँ भेजी थी. यह सब राखियाँ देश की सीमा पर तैनात वीर जवानों के लिए पहुंचाई गई थी.

हालाँकि इससे पहले भारत में टिकटॉक एप बैन होने से चीनी कंपनी को करोड़ों रूपये का घाटा हुआ था. वहीँ अब ‘हिंदुस्तानी राखी’ अभियान की मदद से एक बार फिर से चीन 4000 करोड़ रिये के नुकसान के लिए तैयार है. कन्फ़ेडरेशन ऑफ़ आल इंडिया ट्रेडर्स ने हाल ही में दिए एक ब्यान में बताया था कि, “यह साल पूरा देश रक्षा बंधन याद रखेगा क्यूंकि इस बार हिंदुस्तानी राखी अभियान चलाया गया था जिससे चीन को मुंह की खानी पड़ी है.”

Previous articleछुट्टी से लौट रहे जवान को कर लिया अगवा – जली हालत में कार बरामद
Next articleसोनीपत: महिला पुलिसकर्मी ने दिखाई बहादुरी – 3 किलोमीटर पीछा करके पकड़ा आरोपी