चाऊमीन चीन ने बनाई या भारत ने ?

284

इन दिनों भारत और चीन के बीच चल रहा विवाद सुलझने का नाम नहीं ले रहा. जून महीने में लद्दाख की गलवान घाटी पर 20 भारतीय जवानों की चीनी सेना ने शहीद कर दिया. जिसके बाद से ही पूरे देश में चीनी चीज़ों का बहिष्कार किया जा रहा है. इस मामले में बीते दिनों कुछ चीनी मोबाइल एप्स भी बैन कर दिए गए हैं. वहीँ बहुत से भारतियों के मन में सवाल है कि क्या चाऊमीन चीनी फ़ूड हैं या फिर भारतीय? यदि आप भी इस सवाल का जवाब नहीं जानते तो यह खास पोस्ट केवल आपके लिए ही है.

चाऊमीन है चाइनीज फ़ूड?

चाऊमीन खाने में बेहद लज़ीज़ होते हैं. भारत समेत अन्य कईं देशों में चाऊमीन बड़े स्वाद से खाए जाते हैं. लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि चाऊमीन असल में एक चीनी खाना है. चाऊमीन और चॉप सुई दिखने में बिलकुल एक जैसे लगते हैं. हालाँकि चॉप सुई अमेरिकन खाना है जिसे चीनी तकनीक की मदद से पकाया जाता है. जबकि चाऊमीन पूरी तरह से एक चीनी व्यंजन है.

उत्तरी चीन में बने थे चाऊमीन

चाऊमीन का इतिहास काफी दिलचस्प रहा है. चाऊमीन को चाउ माइन के नाम से भी चीन में जाना जाता है. मंदारिन में “चाओ मिएन” जिसका अर्थ है “हलके-तले हुए नूडल्स,” असल में पहली बार उत्तरी चीन में उत्पन्न हुआ था. प्रारंभिक समय के दौरान चीन में, चाऊमीन को चम्मच से खाया जाता था.लेकिन आज के समय में हर कोई इन्हें खाने के लिए चॉपस्टिक का उपयोग करता है. इटली को छोड़कर, लगभग हर देश में चाऊमीन खाने के लिए चम्मच, कांटा और चॉपस्टिक का इस्तेमाल किया जाता है.

Previous articleCBSE रिजल्ट – जानिए कब आएगा CBSE बोर्ड का रिजल्ट
Next articlePUBG गेम के चक्कर में उड़ा दिए 16 लाख रुपए – जानिए पूरा मामला