अनिल विज से वापस लिया गया CID विभाग

180

संसार क्रान्ति (नवीन नरवाना): हरियाणा के गृहमंत्री व अंबाला से विधायक अनिल विज से CID विभाग वापस लेने के बाद राजनीति गर्मा गई हैं। सीआईडी विभाग वापस लेने के बाद Anil Vij नें कोई भी टिप्पणी करने से इनकार कर दिया व कहा की प्रदेश का मुख्यमंत्री सबसे ऊपर होता हैं, वह कोई भी विभाग ले सकते हैं व विभाजित भी कर सकते हैं।

पार्टी व संगठन मुख्यमंत्री के साथ

जिस तरह मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर नें एक ही दिन में इस मामले को सुलझा दिया उससे यह तो साबित हो गया की पार्टी और संगठन उनके साथ हैं। जानकारी के अनुसार मुख्यमंत्री मनोहरलाल खट्टर नें CID विभाग का पक्का काम कर दिया हैं, जिससे भविष्य में भी कोई नेता या मंत्री सी॰आई॰डी॰ विभाग पर नजर नहीं लगा पाएगा। सीएम खट्टर के इस कदम से अनिल विज के चाहने वालों के चेहरों पर मायूसी साफ दिखाई दे रही हैं। हालाँकि अनिल विज नें कोई भी आपत्तिजनक टिप्पणी नहीं की हैं, वह अबतक शांत दिखाई दे रहें हैं।

क्या मंत्री पद छोड़ सकते हैं विज ?

जहां तक मंत्री पद छोड़ने की बात हैं वहाँ अब तक किसी भी नेता का कोई ब्यान सामने नहीं आया हैं। हालाँकि राजनीति के विशेषज्ञों का कहना हैं की गृहमंत्री अपना मंत्री पद छोड़ सकते हैं। क्योंकि CID विभाग को लेकर सीएम खट्टर व अनिल विज के बीच तनातनी बढ़ चुकी हैं। अगर सार्वजनिक मंचो की बात करें तो वहाँ सीएम खट्टर और गृहमंत्री अनिल विज की बातचीत थम सी गई हैं। सूत्रों के अनुसार अनिल विज पर CID नजर रखे हुए हैं वह उनकी हर गुप्त जानकरी सरकार को मुहैया करा रही हैं। जो कभी उन्ही का विभाग हुआ करती थी, आज वही उनकी निगरानी कर रही हैं।

नोट: जो भी जानकारी संसार क्रान्ति द्वारा दी गई हैं। संसार क्रान्ति उसकी पुष्टि नहीं करता। यह जानकारी सूत्रों व राजनीतिक चर्चा के आधार पर दी गई हैं।

Previous articleटूट सकता हैं भाजपा और जजपा गठबंधन – सूत्र
Next articleपूर्व मंत्री मनीष ग्रोवर पर बलराज कुंडू नें लगाए भ्रष्टाचार के आरोप