हरियाणा में बढ़ेगी ठंड – बारिश के बाद बदला मौसम का मिजाज

194

पिछले दिनों हुई हल्की बूँदा-बादी  के बाद हरियाणा में ठंड और कोहरा बढ़ गया हैं। सर्दी के कारण आम जनता और बॉर्डर पर बैठे किसान, जवान को परेशानी का सामना पड़ रहा हैं। 26 और 27 दिसम्बर को जम्मू कश्मीर में हुई बर्फ़बारी के कारण आसपास के राज्यों जैसे हरियाणा व पंजाब में ठंड अधिक बढ़ गयी हैं। देर रात्रि से पहाड़ों की तरफ से आ रही उत्तर पश्चिमी ठंडी हवाओं के कारण रात्रि तापमान में गिरावट दर्ज हुई है जो कल रात्रि  28 दिसम्बर को 1.7डिग्री सेल्सियस तापमान दर्ज  हुआ है।  धुँध के कारण प्रतिदिन कोई ना कोई हादसा हो जाता हैं जिससे बचने के लिए वाहनों पर रिफलेक्टर लगाने की सलाह दी जा रही हैं।

31 दिसम्बर तक उत्तर पश्चिमी हवाएँ मैदानी क्षेत्रों मे चलने की संभावना से हरियाणा राज्य में  रात्रि तापमान में और गिरावट व  कहीं कहीं पाला पड़ने की भी संभावना है। इस दौरान वातावरण में नमी अधिक होने से सुबह के समय धुँध रहने की संभावना भी है। मौसम विभाग नें भी किसानों के लिए कुछ सलाह जारी की हैं जिसमें कहा गया हैं की पाले का हानिकारक प्रभाव सरसों, आलू, फलो व सब्जियों की नर्सरी तथा छोटे फलदार पौधों पर पड़ सकता है। इससे बचाव के लिए किसान भाई यदि पानी उपलब्ध हो तो विशेषकर सब्जियों व फलदार पौधों में सिंचाई करे, ताकि जमीन का तापमान बढ़ सके।

Previous articleमौसम खराब: हरियाणा में इन इलाकों में बारिश के आसार
Next articleहरियाणा: छोटे से कस्बे की छोरी बनी भारतीय सेना में कैप्टन