युवक को फेसबुक पर “कोरोना ज्ञान” देना पड़ा महंगा – दर्ज हुई FIR

185

कोरोना वायरस एक ऐसी महामारी बन कर सामने आया है जिसने पूरे देश और सरकार को हिला कर रख दिया है. हालाँकि अब लॉकडाउन फेज़ चार चल रहा है लेकिन प्रदेश में बाज़ार खोल दिए गये हैं. बीते दिनों फतेहाबाद जिले के एक व्यक्ति को फेसबुक पर कोरोना से जुडा पोस्ट करना महंगा पड़ गया. जिसके बाद डयूटी मजिस्ट्रेट ने व्यक्ति के खिलाफ FIR दर्ज करवा दी है. पुलिस ने उस भ्रामक पोस्ट को लेकर जांच पड़ताल भी शुरू कर दी है. करवाई होता देख कर आरोपी व्यक्ति ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट से उस पोस्ट को तुरंत डिलीट भी कर दिया था.

दरअसल जिले के राजकीय महाविद्यालय में तैनात भूगोल के सहायक प्रो. दर्शन सिंह की डयूटी इन दिनों शहर की मॉडल टाउन कॉलोनी में लगी हुई थी. वह वहां बतौर मजिस्ट्रेट नियुक्त थे. 22 मई को दीपक गर्ग डीपी की फेसबुक प्रोफाइल से एक पोस्ट देखी. इसमें “कोरोना की सच्चाई क्या है?”शीर्षक से पोस्ट डाली गई थी.

इस पोस्ट में व्यक्ति ने Covid-19 से जुडी एक भ्रामक पोस्ट को अपडेट किया था. इसमें व्यक्ति ने लिखा था कि सरकार कोरोना के नाम पर फण्ड खाने की साजिश कर रही है. जिसके बाद मजिस्ट्रेट द्वारा की गई प्रारंभिक जांच में पता चला कि वह पोस्ट दीपक गर्ग निवासी भट्टूकलां द्वारा की गई है. इसके बाद मजिस्ट्रेट दर्शन सिंह ने करवाई के लिए शिकायत दर्ज करवा दी. अब पुलिस ने मामला दायर करके आरोपी युवक के खिलाफ कारवाई शुरू कर दी है.

Previous articleहरियाणा का यह जिला बना कोरोना का नया हॉटस्पॉट, पिछले 24 घंटे में मिले 64 नए पॉजिटिव केस
Next article10वीं के छात्र ध्यान दें – 27 मई से पहले जरूर करें ये काम