Driving Licence: ड्राइविंग लाइसेंस के लिए सरकार ने दी बड़ी राहत

206

कोरोना काल के दौरान इन दिनों वाहन चालकों के चलान काफी बढा दिए गए थे लेकिन अब सरकार ने चालकों को एक बड़ी राहत की सांस दी है. नए नियमों के अनुसार अब गाड़ी के मालिकों के ड्राइविंग लाइसेंस और दस्तावेजों की वैधता अवधि को बढ़ा दिया गया है. यानि अब मोटर वाहन अधिनियम के चलते जरूरी ड्राइविंग लाइसेंस, पंजीकरण, वाहनों का फिटनेस आदि दस्तावेजों की वैधता बढ़ा कर 31 दिसंबर 2020 तक कर दी गई है. हालाँकि इससे पहले भी इस वैधता को बढा कर सितंबर तक किया गया था लेकिन अब कोविड-19 के चलते व्याप्त स्तिथि को ध्यान में रखते हुए यह नया फैसला लागू कर दिया गया है.

नए नियमों के अनुसार जिन वाहनों के दस्तावेजों की वैधता इस साल के फरवरी 2020 के बाद समाप्त हुई थीं, अब उनकी अवधि 31 दिसंबर तक की जा चुकी है. इस तारिख के बाद उन दस्तावेजों की अवधि समाप्त कर दी जाएगी. यानि अब 31 दिसंबर तक आपके डाक्यूमेंट्स वैध माने जाएंगे. बता दें कि मोटर वाहन अधिनियम 1988 और केंद्रीय मोटर वाहन नियम 1989 के अंतर्गत फिटनेस, परमिट, लाइसेंस, पंजीकरण या अन्य दस्तावेज अनिवार्य होते हैं.

जानकरी के लिए बता दें कि इस पहले 9 जून और 30 मार्च को भी सड़क परिवहन मंत्रालय ने आदेश जारी करके इन दस्तावेजों की वैधता में इजाफा किया था. जून के महीने में दिए दिशा निर्देशों अनुसार यह बढ़कर 30 सितंबर तक किया गया था. मंत्रालय के अनुसार लॉकडाउन के कारण बहुत से वाहन मालिकों के दस्तावेज रिन्यू नहीं हो पा रहे थे. ऐसे में यह फैसला ले कर सभी डाक्यूमेंट्स की वैधता बढ़ा कर 31 दिसंबर 2020 तक कर दी गई है.

Previous article2 बच्चों की माँ ने नाबालिग को प्रेमजाल में फंसाया – मन्दिर में जाकर रचाई शादी
Next articleदोबारा शुरू हुई मां वैष्णो देवी यात्रा – ऐसे करें अपना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन