40 परीक्षाओं में हुए असफल – नहीं टूटा हौंसला और बन गये IRS अफसर

356

यदि इंसान के इरादे पक्के हो तो दुनिया की कोई भी रुकावट उसे उसकी मंजिल तक पहुँचने से नहीं रोक सकती. फिर चाहे वह कोई भी कार्यक्षेत्र क्यों न हो. यदि आप अपने सपनों को उड़ान देना चाहते हैं तो आपको हार का सामना करना भी सीखना पड़ेगा क्यूंकि हार ही आपको आपकी मंजिल तक पहुंचने योग्य बनाती है. कुछ ऐसी ही हिम्मत और हौसला IRS असफर अवध (IRS Avadh Kishor) किशोर ने भी दिखाई. आज भले ही वह एक कामयाब ऑफिसर हैं लेकिन उन्हें इस सफलता तक पहुँचने के लिए एक या दो बार नहीं बल्कि 40 बार हार का सामना करना पड़ा है.

बता दें कि अवध किशोर पवार (Avadh Kishor Panwar IRS) ने अब तक 40 बार यूपीएससी (UPSC) की परीक्षा दी है और फेल हुए हैं. लेकिन इसके बावजूद भी उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी और आख़िरकार अब IRS की कुर्सी संभाल रहे हैं. अवध किशोर के अनुसार जब भी वह किसी रिक्शा चालक या अन्य व्यक्ति को UPSC की परीक्षा पास करते हुए देखते थे तो उनका हौंसला और भी बढ़ जाता था और वह हार के बाद भी वापिस उठ खड़े होने की हिम्मत जुटा लेते थे.

वह हमेशा से ही सविल सर्विसेस की परीक्षा देने के इच्छुक रहे हैं लेकिन जब किसी व्यक्ति को वह परीक्षा प-आस करते देखते तो हमेशा यही सोचते कि अगर यह कर सकता है तो फिर मैं यह पास क्यों नहीं कर सकता. केवल यही एक बात थी जो हमेशा उनकी उम्मीद को जगाए रखती थी. हालाँकि उनके पास अच्छी नौकरी थी लेकिन उन्होंने रिजाइन दे कर यूपीएससी को अपनी मंजिल बना लिया. अवध के अनुसार वह हिंदी मीडियम बैकग्राउंड से आते हैं इसलिए इंग्लिश में उन्हें काफी दिक्कत आती रही है.

अवध ने बताया कि हर व्यक्ति साल में एक ही बार यूपीएससी की परीक्षा दे सकता है ऐसे में यदि किसी का अटेम्प्ट फेल होता है तो उसका पूरा साल बर्बाद हो जाता है. इसलिए उनके 40 साल फेल होने के चलते बर्बाद हो गए परन्तु उन्होंने फिर भी कभी पीछे मुद कर नहीं देखा. बता दें कि अवध मध्य प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले के ग्रामीण क्षेत्र से ताल्लुक रखते हैं. ऐसे में बड़ी उपाधि मिलना उनके लिए बेहद गर्व की बात है.

Previous articleसस्ता लोन के नाम पर 2 करोड़ रुपए से ज्यादा की ठगी
Next articleस्कूल टीचर ने अपने प्रेमी के लिए पति को लगा दिया ठिकाने – ऐसे हुआ खुलासा