होमगार्ड की बेटी के साथ हुआ गैंगरेप – अनिल विज बने मसीहा

174

(Naveen Narwana): नूंह जिले में कुछ दिन पहले एक शर्मनाक घटना सामने आयी थी. जिसमें 5 युवकों ने एक होमगार्ड की बेटी के साथ दुष्कर्म किया था. घटना होने के 3 दिन तक परिवार वाले महिला थाने व SP तक गुहार लगाते रहे मगर कोई सुनवाई नहीं की गयी. आख़िर में 5 मई मंगलवार को जब अनिल विज को इस मामले से आवगत करवाया गया तो केस दर्ज किया गया. केस 5 मई को दर्ज किया गया जबकि घटना 2 मई हो हुई थी.

पीड़िता ने घटना कि जानकारी देते हुए बताया कि 2 मई सुबह उसकी मां जंगल में लकड़ी लेने गई थी. उसका भाई पास के गाँव से दवा लेने मेडिकल स्टोर पर चला गया था. दोपहर लगभग 12 बजे वह घर पर अकेली थी जिस दौरान गांव का राकेश पुत्र लक्ष्मण आया और कहा कि तुम्हारी मम्मी लकड़ी लाने के लिए बुला रही है. जब वह जाने लगी तो रास्ते में राहुल पुत्र रमेश के घर के बाहर खड़े किरणपाल, बिजेंद्र, रिंकू व राहुल ने उसे जबरन घर के अंदर खींच लिया. जब पीड़ित ने शोर मचाने की कोशिश की तो उसके मुंह पर कपड़ा बांध दिया गया. इसके बाद पांचों युवकों ने बारी-बारी से दुष्कर्म किया. युवकों ने यह बात किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी भी दी.

SHO ने कहा कि 5 मई को मिली कम्प्लेंट

घटना के बाद पीड़ित परिवार ने पुलिस कंट्रोल रूम और महिला हेल्पलाइन तक से मदद मांगी. कोई सुनवाई ना होने पर महिला थाने पहुंचे, मगर उन्हें सुबह आने को कहा गया. इसके बाद पीड़ित परिवार रात में ही जिला सचिवालय में पुलिस महकमे से मदद के लिए पहुंचा. लेकिन पुलिस लाइन में भेज दिया.

पुलिस लाइन में पहुँचकर पीड़ित परिवार ने गेट पर तैनात पुलिसकर्मियों से SP नरेंद्र बिजारनिया से मदद दिलाने की गुहार लगाई. लेकिन गेट पर तैनात पुलिसकर्मियों ने कहा कि SP साहब क्वार्टर पर नहीं हैं. उसके बाद पीड़ित परिवार 3 मई की सुबह फिर से महिला थाने में पहुंचा और इंसाफ की गुहार लगाई. मगर SP से मिलने के बाद भी सुनवाई नहीं हुई. जिसके बाद 5 मई की दोपहर गृहमंत्री अनिल विज को मामले से आवगत करवाया गया. महिला थाना SHO सुमन देवी ने कहा कि 5 मई को ही शिकायत मिली है.

Previous articleलड़की ने नकली पिस्तौल दिखाकर पुलिस सब इंस्पेक्टर को धमकाया -फिर हुआ ये काम
Next articleजींद में कोरोना संक्रमितों कि संख्या हुई 12 – लगातार बढ़ रहे हैं मामले