गोहाना: SDM कार्यालय का क्लर्क गिरफ्तार, व्यक्ति से मांगी थी रिश्वत

229

देश में लॉकडाउन के बीच भी रिश्वतखोरी रुकने का नाम नहीं ले रही. इसका जीता जाता उदहारण हाल ही में सोनीपत के गोहाना जिले में देखने को मिला. जहाँ एसडीएम कार्यालय में तैनात एक क्लर्क को विजिलेंस टीम ने रंगे हाथों रिश्वत लेते हुए पकड़ा. बताया जा रहा है कि इस क्लर्क ने एक व्यक्ति से गन लाइसेंस के रिन्यूअल के लिए 1500 रूपये की रिश्वत मांगी थी. जिसके बाद 500 रूपये उसको पहले ही दिए जा चुके थे और बाकी हज़ार देते समय विजिलेंस ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

मिली जानकारी के अनुसार अनिल नामक एक व्यक्ति ने सोनीपत जिले की विजिलेंस टीम को शिकायत की थी कि गोहाना एसडीएम ऑफिस में तैनात क्लर्क विनोद गन लाइसेंस की अवधि बढ़ाने के लिए उससे 4,000 रूपये मांग रहा था लेकिन मोल-भाव करने के बाद वह पंद्रह सौ रूपये तक आ गया.

अनिल ने बताया कि उसने गन रिन्यूअल के लिए फाइल लगवाई थी लेकिन आरोपी क्लर्क ने यह कह कर पैसे मांगे कि कोरोना के कारण फाइल लेट हो सकती है ऐसे में अगर उसको जल्दी है तो उसको पहले पैसे भरने होंगे. ऐसे में बात पंद्रह सौ पर जा कर फाइनल हुई थी.

सोनीपत जिले की विजिलेंस टीम में तैनात अधिकारी स्मट धनखड़ ने कहा कि हमने आरोपी अनिल को गिरफ्तार कर लिया है और उसके हाथ में गिरफ़्तारी के समय एक हज़ार रूपये की रकम मौजूद थी.

Previous articleहरियाणा: लगभग 11 जिलों में, 2 घंटे में तेज बाऱिश का अनुमान
Next articleतूफान आते ही ढह गया हरियाणा का ये टोल प्लाजा