अगर अपने फोन में सेव रखते हैं – बैंक खाते की डिटेल तो रहिए सावधान

190

यदि आप अपने मोबाईल फोन में आपके बैंक की डिटेल को सेव करके रखते हैं तो आपको सावधान होने जरूरत है। सूत्रों से मिली खबर के अनुसार अगर आप अपना बैंक अकाउंट का पासवर्ड, एटीएम पिन या फिर इंटरनेट बैंक इत्यादि का पासवर्ड अपने मोबाईल में सेव करके रखते हैं तो आपको बहुत बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। क्योंकि मोबाईल फोन्स में BlackRock के नाम से एक नया वायरस आया है। यह वायरस आपके बैंक की पूरी डिटेल आपको बिना पता चले संग्रहित कर लेता है।

भारत सरकार की साइबर एजेंसी ने चेतावनी देते हुए बताया है कि BlackRock एंड्रॉयड मैलवेयर नाम का यह वायरस करीब-करीब 337 एंड्रॉयड एप्स से जानकारी चुराने में सक्षम है। यह वायरस आपके नियमित प्रयोग किए जाने वाले जैसे जीमेल, अमेजन, नेटफ्क्सि ओर उबर जैसी एप्स पर अटैक करते हुए आपके बैंक संबंधित सारी जानकारियां चुरा लेता है। यह जानकारी साइबर एजेंसी के सबसे पहले मोबाइल सिक्योरिटी फर्म TreatFabric ने दी थी। यह वायरस आम मैलवेयर वायरस की तरह ही डाटा चोरी करता है जो कि Strain Xerxes के सोर्स कोड पर आधारित होता है। यह वायरस आपके लॉगिन करने के बाद सैंकिण्डों में ही आपकी जानकारी संग्रहित कर लेता है। मेलवेयर जिस तकनीक से डाटा चोरी करता था उसे Overlays कहा जाता था।

यह वायरस आपकी जानकारी को इस तकनीक से चुराता है कि आपको पता भी नहीं चलता। मैलवेयर वाले एप्स एक फर्जी वेब बनाकर वायरल करते हैं, जो कि हूबहू असली वैब पेज की तरह ही दिखाई देता है। जैसे ही यूजर उस वैब पर क्लिक करता है, यह आपसे आपके मोबाईल की गैलेरी, कॉन्टेक्टस, मैसेजिंग, कैमरा इत्यादि का एक्सेस कर लेता है। जिससे आपके मोबाईल पर इस वायरस का कब्जा हो जाता है जो कि आपको समय-समय पर फर्जी नोटिफिकेशन भी देता रहता है।

अगर आपका मोबाईल भी इस तरह के वायरस के संपर्क में आ जाता है तो आपको थोड़ी सी सावधानी बरतनी पड़ेगी। यह एप आमतौर पर एंटीवायरस एप के माध्यम से आपको चकमा देता है। ऐसे में आपको ध्यान रखना पड़ेगा कि किसी भी थर्ड पार्टी स्टोर या सोर्स से अपने फोन में कोई एप डाउनलोड करने से बचें। बैंक इत्यादि जैसी हाई स्कियोरिटी एप को डाउनलोड या इंस्टाल करने से पहले उसकी अच्छी तरह से चांज कर लें ताकि आपको इस तरह की समस्या का सामना ना करना पड़े।

Previous articleलड़कियों की शादी के लिए अब नई उम्र हो सकती हैं लागू
Next articleआर्थिक रूप से तंग इस खिलाड़ी को 15 हजार हर महीना देंगे अभय चौटाला