RTI से हुआ बड़ा खुलासा – 4 साल में मोदी सरकार ने प्रचार पर खर्च किए 4300 करोड़

223

मुंबई के एक RTI कार्यकर्ता अनिल गलगली ने सूचना के अधिकार (Right To Information) के तहत केंद्र सरकार के ब्यूरो ऑफ आउटरीच एंड कम्युनिकेशन (BOC) से सरकार के विज्ञापन और प्रचार पर खर्च की गई रकम के विवरण मांगे थे. रिपोर्ट में सामने आया की मोदी सरकार ने मीडिया के जरिए केवल प्रचार और विज्ञापनों पर 4,343.26 करोड़ रुपये की भारी भरकम राशि खर्च की है.

आपको बता दें कि यह जानकारी मुंबई के RTI कार्यकर्ता अनिल गलगली ने Right to Information के तहत हासिल की है. अनिल गलगली ने केंद्र सरकार के Bureau of Outreach and Communication विभाग से वर्तमान सरकार के कार्यालय संभालने के वक्त से मीडिया में विज्ञापन और प्रचार पर खर्च की गई राशि के विवरण मांगे थे.

जनसत्ता की एक रिपोर्ट के मुताबिक बीओसी (Bureau of Outreach and Communication) के वित्तीय सलाहकार तपन सूत्रधार ने जून 2014 से लेकर अब तक प्रचार व विज्ञापनों पर हुए खर्च की जानकारी दी है. इसपर अनिल गलगली का कहना हैं कि सरकार की चारों तरफ आलोचना के बाद 2017 में प्रचार व विज्ञापन खर्च में थोड़ी कमी दिखाई दी है. रिपोर्ट के मुताबिक 2017 में विज्ञापन और प्रचार पर करीब 308 करोड़ रुपये का खर्चा किया गया था.

Next articleक्या गृहमंत्री अमित शाह ने किया स्वस्तिक का अपमान – पड़ताल