क्या 5G रेडिएशन की वजह से लग रहा हैं करंट – पड़ताल

204

सोशल मीडिया जैसे वॉट्सऐप, फेसबुक पर कई दिनों से 5G को लेकर एक खबर शेयर की जा रही हैं। जिसमें 5G नेटवर्क की वजह से किसी इंसान या वस्तु को छूने पर करंट लगने की बात कही जा रही हैं। आपको बता दें की कई लोग कह रहें हैं की मौसम में बदलाव के कारण करंट लगने की घटनाएँ हो रही हैं।इस वाईरल पोस्ट के साथ सोशल मीडिया पर प्रथम न्यूज़ नाम के एक अख़बार की न्यूज कटिंग शेयर की जा रही हैं। जिसमें 5G नेटवर्क के कारण करंट लगने का दावा किया गया हैं।

पड़ताल

जब इस वाईरल खबर की पड़ताल की गयी तो हमने पाया की 5G रेडियेशन से करंट महसूस होने का दावा भ्रामक है। आपको बता दें कि भारत में अभी तक 5G सेवाएं शुरू नहीं हुई हैं और किसी भी भरोसेमंद रिपोर्ट में हमें रेडियेशन के कारण करंट महसूस होने की जानकारी भी नहीं मिली हैं। जब हमने प्रथम न्यूज की वेब्सायट पर वाईरल खबर को खोजा तो हमने पाया की यह खबर 2 अप्रैल 2021 को छापी गयी थी। इसमें लिखा गया था की पिछले कुछ दिनों से किसी भी चीज को छूने पर करंट महसूस हो रहा है।

खबर में बताया गया है कि इंजीनियरिंग और IIT के छात्र इसे 5G रेडियेशन से जोड़ रहे हैं। लेकिन इस खबर में किसी भी IIT के छात्र का नाम या किसी कॉलेज का नाम नहीं दिया गया है। इसके बाद करंट लगने के पीछे किसी वस्तु में इलेक्ट्रॉन की संख्या का प्रोटॉन की संख्या के मुकाबले बढ़ जाना बताया गया है। साथ ही लिखा है कि 5G रेडियेशन के कारण शरीर में इलेक्ट्रॉन-प्रोटॉन का स्तर प्रभावित हो रहा है। इस वजह से जब हम किसी चीज को छू रहे हैं तो हमें करंट लग रहा है। आपको बता दें की इस वाईरल खबर में किसी वैज्ञानिक रिपोर्ट में किए गये दावे या किसी एक्सपर्ट का ज़िक्र नहीं है।

Previous articleलोग 12 हजार में बेच रहें हैं 899 का कोरोना टीका – 6 गिरफ्तार
Next articleअरविंद केजरीवाल की पत्नी को हुआ कोरोना – केजरीवाल घर में ही क्वारंटाइन