जींद के मुस्लिम परिवारों ने अपनाया हिंदू धर्म – बोलें मानवता सभी धर्मों से बढ़कर हैं

390

(नवीन नरवाना): जींद के छह मुस्लिम परिवारों ने बिना किसी दवाब के हिंदू घर्म को अपना लिया हैं. नरवाना के दनौदा कलां गाँव में रहने वाले 6 मुस्लिम परिवारों ने हिंदू धर्म में वापसी की हैं.

बीतें शनिवार को मुस्लिम परिवार के एक बुजुर्ग का देहांत हो गया था. मुस्लिम धर्म के अनुसार शव को दफनाया जाता हैं. मगर उन्होंने शव को दफनाने की बजाय उसका अंतिम संस्कार किया व अपने पूर्वजों के हिंदू धर्म में वापसी कि घोषणा कर दी. बता दे की इसलाम धर्म होने के बावजूद भी वो अपना नामकरण हिंदी में करते थे. जबकि इस्लाम ने नामकरण फारसी भाषा में किया जाता हैं.

परिवार के सदस्य रमेश ने मीडिया से बातचीत ने कहा कि मुस्लिम बादशाह औरंगजेब के समय में हिंदुओं पर अत्या’चार होते थे. उस समय उनके पूर्वज हिंदू हुआ करते थे, मगर औरंगज़ेब के अत्या’चारों से तंग आकर उन्होंने इस्लाम धर्म अपना लिया था. अब शिक्षित नौजवान बच्चों को जब असलियत का ज्ञान हुआ तो पूरे परिवार ने बिना किसी दवाब के हिंदू धर्म को अपना लिया हैं.

आपको बता दें कि उन्होंने पूरी हिंदू परम्परा के साथ जनेऊ धारण करके हिंदू धर्म को अपनाया है. रमेश ने कहा कि लॉकडाउन होने के बावजूद कुछ लोग कट्टरता दिखाने के लिए जमात में बैठ रहे हैं. जो मानव धर्म के ख़िलाफ हैं, क्योंकि सब धर्मों से बड़ा मानवता का धर्म हैं. गाँव के सरपंच पुरूषोतम शर्मा ने कहा की सविधान के अनुसार कोई भी व्यक्ति किसी भी धर्म को अपना सकता हैं. इससे किसी को कोई आपत्ति नहीं हैं बल्कि इनके इस फैसले से पूरा गाँव इसका सम्मान करता हैं.

Previous articleआज सरकारी विभागों के साथ-साथ खुलेंगी ये दुकानें
Next articleहरियाणा पुलिस के इंस्पेक्टर ने अपने ही बेटों को मारी गोली – हुई मौत