2023 में हो सकती है प्राइवेट ट्रेनों की शुरुआत – पूरी खबर

217

नई दिल्ली: बीते दिन रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने भारतीय रेलवे में निजी क्षेत्र की हिस्सेदारी को लेकर बयान जारी किया है. उन्होंने कहा कि निजी रेलवे की भागेदारी टेक्नोलॉजी में बड़ा बदलाव लाने में मदद करेगी साथ ही इससे रेलवे की रफ़्तार भी कईं गुना बढ़ेगी. इस बारे में जानकारी देते हुए विनोद कुमार यादव ने कहा कि निजी ट्रेनों का संचालन देशभर में अप्रैल 2023 से शुरू हो सकता है. उन्होंने निजी ट्रेनों को पूरी तरह से सौंपे जाने की अफवाहों को खारिज करते हुए कहा कि पेसेंजर ट्रेनों की केवल 5% हिस्सेदारी निजी क्षेत्र को दी जा रही है.

नियमों का पालन ना करने पर लग सकता है जुर्माना

विनोद कुमार ने बताया कि अगर निजी कंपनियां ट्रेनों के संचालन में बने मानकों की पालना नहीं करती उन पर भारी जुर्माना लगाया जाएगा. उन्होंने कहा कि निजी ट्रेनों की भागेदारी के साथ ट्रेन लाना और उसकी देखभाल का जिम्मा भी निजी कंपनियों का ही होगा. यह संचालन अगले साल से शुरू किया जा सकता है. इस नई नीति के तहत अब मेक इन इंडिया के नए रूल्स बनाए जायेंगे साथ ही यातायात के अन्य साधन जैसे कि बस व एयरललाइंस के किराये का विशेष रूप से ध्यान रखा जाएगा.

बढ़ सकती हैं यात्री सुविधाएं

बता दें कि रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार ने कहा कि निजी कंपनियों की रेलवे में भागीदारी करने से ट्रेने मांग पर उपलब्ध रहेंगी जिससे यात्रियों की प्रतीक्षा लिस्ट में कमी आएगी. यादव ने कहा कि इन निजी कंपनियों को हर हाल में समय की पाबंदी दी जाएगी. ऐसे में प्रति लाख किलोमीटर की यात्रा के दौरान यदि एक से अधिक बार असफलता मिलती है या फिर देरी होती है तो कंपनी पर उचित करवाई की जाएगी और भारी जुर्माना भी लगाया जाएगा.

Previous articleTik-Tok स्टार ने दी जान, टिक-टोक के बैन होने से थी बहुत परेशान
Next articleHaryana: सोनीपत के 7 मुस्लिम परिवारों ने अपनाया हिंदू धर्म