अंतिम वर्ष वाले छात्रों के समर्थन में आए राहुल गांधी – बोले बिना परीक्षा छात्रों को किया जाए पास

158

जहाँ एक ओर सभी विश्वविद्यालय छात्र अंतिम वर्ष की परीक्षाओं का विरोध कर रहे हैं, वहीँ कांग्रेस नेता राहुल गाँधी भी अब उनका समर्थ करते हुए नजर आ रहे हैं. राहुल गाँधी के अनुसार इस साल कोरोना वायरस के खतरे को मुख्य रखते हुए आईआईटी समेत अन्य संस्थानों की परीक्षाएं रद की जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि स्टूडेंट्स के पिछले रिकॉर्ड को देख कर उन्हें प्रमोट कर देना चाहिए.

राहुल गाँधी के अनुसार यूजीसी द्वारा छात्रों के लिए जो भ्रम पैदा किया जा रह है, वह ठीक नहीं है, उन्हें भी छात्रों के पिछले रिकॉर्ड या फिर आंतरिक मुल्यांकन के अनुसार प्रमोट कर देना चाहिए. यूजीसी का विरोध करते हुए शुक्रवार को राहुल गाँधी ने एक विडियो जारी किया जिसमे वह स्टूडेंट्स का समर्थन करते देखे गए. उन्होंने कहा कि यूजीसी को छात्रों की बात सुन्नी चाहिए.

इस बारे में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने अधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर एक कैंपेन भी चलाया है. उन्होंने कैप्शन में लिखा है, “आईये #SpeakUpForStudents कैंपेन के साथ जुडें.

आपकी जानकारी के लिए आपको बता दें कि हाल ही में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने एक बयान जारी किया है. जिसके मुताबिक अब विश्वविध्यालयों की परीक्षाएं इस सितंबर तक आयोजित की जाएंगी. मंत्रालय ने गृह मंत्रालय की हरी झंडी मिलने के बाद ही यह कदम उठाया है. वहीँ चत्त्रों का कहना है कि महामारी के दौरान उनसे परीक्षाएं ना ली जाएं. इसकी जगह वह आंतरिक मुल्यांकन के आधार पर उन्हें अगले सेशन में प्रमोट कर दें.

Previous articleहरियाणा में बिजली उपभोक्ताओं को बड़ा फायदा – अब 2 रुपये सस्ती मिलेगी बिजली
Next articleअब Samsung और Apple के मोबाइल के साथ नहीं मिलेगा चार्जर ?