दुष्यंत चौटाला को लेकर रामकुमार गौतम ने किया बड़ा खुलासा – सियासत गर्म

187

आज हरियाणा के कई विधायकों व हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने अमित शाह से मुलाकात की हैं। जब रामकुमार गौतम से इस बारे में सवाल किया गया की रामकुमार गौतम इस मुलाक़ात में शामिल क्यों नहीं हुए तो उन्होंने कहा की उन्हें इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

आज एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में जजपा विधायक रामकुमार गौतम ने कहा मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के ग्रह ज़िले के कैमला गाँव में जो उनका प्रोग्राम नहीं होने दिया गया यह एक गम्भीर मुद्दा हैं। यह कोई छोटी बात नहीं हैं तथा यह एक अच्छा संकेत भी नहीं हैं। रामकुमार गौतम से जब कृषि क़ानूनों के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा की सरकार को इसपर गम्भीरता से विचार करना चाहिए। विधायक गौतम ने कहा की मैंने CM खट्टर को भी कहा था की वो कैमला में ना जाए तथा प्रोग्राम कैंसल करदो।

जब इंटरव्यू में 3 कृषि क़ानूनों के बारे में पूछा गया तो रामकुमार गौतम नें हरियाणवी अन्दाज़ में कहा की “इन 3 क़ानूनों को वापस लेलो, इनके बिना के फाँसी आ री हैं” गौतम ने कहा की इन 3 क़ानूनों को जल्द से जल्द वापस ले लेना चाहिए। सरकार क्यों देश को जलवाना चाहती हैं। इनके चक्कर में हरियाणा जलेगा, पंजाब जलेगा व पूरा देश जलेगा। गौतम ने कहा की आंदोलन में बहुत सी ऐसी ताक़तें शामिल हैं जोकी मोदी के ख़िलाफ़ हैं।

दुष्यंत पर कह दी बड़ी बात

जब उनसे अभय चौटाला ने दिए इस्तीफ़े को लेकर पूछा गया तो दादा गौतम ने तीखे अन्दाज में कहा की इसके बारे में अभय चौटाला से पूछो वो मेरी पार्टी थोड़ी हैं। उन्होंने कहा की पार्टी का सवाल करो दुष्यंत चौटाला से उसके पता अजय चौटाला से या उसके भाई और माता से। जजपा एक परिवार की पार्टी है यह उनका धंधा हैं बिजनेस हैं। गौतम ने कहा की जजपा कोई पोलिटिकल पार्टी नहीं हैं बल्कि एक धड़ा हैं। गौतम ने कहा की हरियाणा का बच्चा-बच्चा जानता हैं की ये धंधा कर रहें हैं। उन्होंने कहा की पार्टी में MLA और MP की कोई शक्तियाँ नहीं हैं।

Previous articleअभय चौटाला ने दिया इस्तीफा – बोले 7 विधायकों को लेके बैठूँगा
Next article1 दिन की मुख्यमंत्री बनी 19 साल की सृष्टि – किया ये काम