26 जनवरी की तैयारी में लगे किसानों के जहाज – अगर नहीं हुआ समाधान तो होगी ट्रैक्टर परेड

232

केंद्र सरकार द्वारा लागू किए गये 3 नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसान लगभग 20 सितम्बर 2020 से सरकारों के ख़िलाफ़ खड़े हैं। अगर दिल्ली की बात करें तो 27 नवम्बर के लगभग यह आंदोलन दिल्ली के लिए रवाना हुआ था। आपको बता दें कि दिल्ली की सीमाओं पर किसान अब तक भारी मात्रा में डटे हुए हैं तथा अपनी मांगों को लेकर अड़े हुए हैं। ताज़ा जानकारी के मुताबिक़ किसानों ने अब इन 3 कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ अपना आंदोलन तेज कर दिया है।

किसान मोर्चा ने दिल्ली में प्रेसवार्ता कर ऐलान किया कि उनकी मांगें नहीं मानी गई तो 26 जनवरी के कार्यक्रम में किसान दिल्ली में ट्रैक्टर परेड निकालेंगे। बता दें कि इस परेड के लिए किसानों नें अब से तैयारियाँ शुरू कर दी हैं। 26 जनवरी को दिल्ली के राजपथ पर ट्रैक्टर परेड करने के लिए हरियाणा के जीन्द में किसान महिलाओं को ट्रैक्टर-ट्रालियां चलाने की ट्रैनिंग दी जा रही है।

बता दें की जीन्द से पंजाब को जाने वाले नैशनल हाईवे के टोल प्लाजा के पास इन महिलाओं को ट्रैनिंग लेते देखा जा सकता है। इन्हें सब तरह से गुर सिखाएँ जा रहे हैं जैसे तंग गलियों से कैसे निकलना है, ब्रैकरों से ट्रैक्टरों को कैसे निकालना है, स्पीड कितनी रखनी हैं इत्यादि। पहले किसान महिलाओं के साथ बैठकर उन्हें ट्रैक्टर चलाना सिखा रहे हैं तो उसके बाद महिलाओं से अकेले ही ट्रैक्टर चलवाकर देखा जा रहा है।

Previous articleहरियाणा का ये शहर शिमला और मनाली से भी ठंडा – टूट गये सारे रिकॉर्ड
Next articleक्या PM नरेंद्र मोदी के पुराने दोस्त हैं अन्ना हजारे ? – देखें पूरी खबर