लॉकडाउन में ऑड-इवन फार्मूला से परेशान आए दुकानदार, सरकार से समय बदलने की लगा रहे हैं गुहार

190

यमुनानगर: हरियाणा में आज लॉकडाउन के थर्ड फेज़ का 14वां दिन है. हालाँकि अब सरकार ने बाज़ार व दुकानें खोलने के लिए पहले से काफी अधिक ढील दे रखी है. लेकिन इसके बावजूद दुकानदार सरकार के फैसले से खुश नहीं है. बता दें कि पिछले कुछ दिनों से दुकानें खोलने के लिए ओड-इवन का फार्मूला लागू किया गया था. लेकिन यह सिस्टम शहरी दुकानदारों को एक फीसदी भी पसंद नहीं आ रहा. दुकानदारों का कहना है कि इस सिस्टम के चलते शहर की अधिकतर दुकानें बंद रहती हैं जिससे काम-काज बुरी तरह से ठप हो गया है. वहीं जो लोग परमानेंट खरीददार थे, वह भी अब दुकान बंद होने पर सामान अन्य दुकानों से लेना पसंद कर रहे हैं जिससे ग्राहक बंट चुके हैं. दूसरा कारण यह भी है कि शाम के समय ग्राहक आते हैं जबकि दुकानें 4 बजे ही बंद करवा दी जाती हैं.

दुकानदारों की सरकार से अपील है कि शाम सात बजे तक दुकानें खोलने के आदेश दिए जाएँ तब जाकर शायद उन्हें थोड़ी राहत की उम्मीद नज़र आएगी. लेकिन फिलहाल की स्तिथि मे दुकान चलाना संतोषजनक नहीं है. बता दें कि सश्र के जगाधरी बर्तन बाज़ार में करीब 150 से भी अधिक दुकानें हैं लेकिनइनमें से ज्यादातर दुकानें बंद ही रहती हैं. वहीं एसोसिएशन के प्रधान राजेंद्र बजाज ने इस मामले में जानकारी देते हुए कहा कि अब दुकानों को नंबर दिए गये हैं. जो दुकानें बंद है, उन्हें भी नंबर दिया गया है लेकिन छूट के बाद भी बाज़ार में काम नामात्र अहि और ग्राहक बाज़ार में आ ही नहीं रहे.

बता दें कि सरकार ने अब ढाबे व रेस्तरां भी खोलने के आदेश दिए हुए हैं लेकिन दिक्कत यह है कि अब ढाबों पर बैठ कर कोई खा नहीं सकता केवल होम डिलीवरी की अनुमति दी गई है. लोग ज्यादातर शाम को ही आर्डर प्लेस करते हैं. लेकिन उस समय में दुकानें ही बंद करवा दी जाती हैं. ऐसे में जो दुकानदार थोडा माल लाते भी हैं, उनकी खपत नही हो पा रही है.

Previous articleअनोखी शादी: पास बनवा कर 560 किलोमीटर सफ़र तय करके अकेले ले आया दुल्हन, लॉकडाउन में बंधा ये अनोखा बंधन
Next articleहरियाणा: गुरुग्राम समेत अन्य रूटों पर चलेगी रोडवेज बसें, जानिए क्या रहेगा शेड्यूल