इस मुल्क में औरत होना इतना मुश्किल भरा क्यों है?

161

इस दुनिया में कईं देश हैं और कईं तरह के लोग रहते हैं. हर देश के अपने अलग नियम और कानून होते हैं जिन्हें मानना देशवासियों के लिए लाज़मी हो जाता है वरना उन्हें देश निकाला दे दिया जात अहै या फिर उन्हें मार दिया जाता है. वहीँ बात अगर अफगानिस्तान की करें तो यह एक ऐसा देश है जहाँ औरतों कसा जीना सबसे मुश्किल कार्य बन कर सामने आया है. हाल ही में एक अफगानी लड़की राबिया ने न्यूज़ चैनल बीबीसी से सम्पर्क किया और अपनी कहानी बताई.

औरतों का नाम लेना है सख्त मना 

राबिया ने बताया कि यहाँ हालात ऐसे ही कि औरतों का नाम लेना भी पाप या जुर्म समझा जाता है. राबिया ने बताया कि अगर कोई लड़की बीमार हो जाती है और डॉ. पर्ची पर उस लड़की का नाम भी लिख देता है तो उसे घर के मर्दों से बुरी तरह से मारा-पीटा जाता है. इतना ही नहीं बल्कि यहाँ की सरकार ने भी औरतों का नाम जन्म सर्टिफिकेट पर लिखने से मना किया हुआ है. यदि किसी के घर बेटी पैदा होती है तो उसके पिता का नाम उसके जन्म सर्टिफिकेट पर डाल दिया जाता है.

एक से ज्यादा रखी जाती है बीवियां 

गौरतलब है कि इस मुल्क में हर मर्द एक से अधिक बीवियां रख रहा है और इसके लिए सरकार भी सख्ती नहीं बरतती. यहाँ की बहु बेटियों को उनके अब्बू के नाम से या फिर उनके शौहर के नाम से जाना जाता है. यदि किसी का शौहर या अब्बा नहीं है तो घर के बड़े बेटे के नाम से उस लड़की को जाना जाता है. ऐसे में यहाँ किसी लड़ी की कोई पहचान नहीं है. हाल ही में एक इंटरव्यू में एक अफगानी लड़की फरीदा सादाद ने बताया कि अफगानिस्तान रहने के दौरान छोटी उम्र में ही उनकी शादी हो गयी थी. महज 15 साल की उम्र में वह माँ बन गयी थी लेकिन बाद में पति ने उसे छोड़ दिया. वह जर्मनी आ कर बस गयी लेकिन कभी शादी नहीं कर पायी क्यूंकि उसके पति ने कभी उसे तलाक ही नहीं दिया था.

मिलकर उठाई आवाज़ 

वहीँ अब अफगानी लड़कियों ने अपनी पहचान बनाने के लिए आवाज़ उठाने का हौंसला किया है. रबीना समेत अन्य कईं लड़कियों ने सोशल मीडिया पर अपने नाम की लड़ाई के लिए एक अभियान चलाया है. इस अभियान को हैशटैग ‘मेरा नाम कहा है?” का टाइटल दिया गया है. इन लडकियों ने अब ठान ली है कि वह देश में अपनी पहचान बनाएंगी और मर्दों के अधीन नहीं रहेंगी हालाँकि यह रास्ता बेहद कठिन भी है.

Previous articleहरियाणा में 4 अगस्त से खुलेंगे सभी कॉलेज – जानिए क्या होंगे नियम
Next articleछुट्टी से लौट रहे जवान को कर लिया अगवा – जली हालत में कार बरामद