क्या 15 अप्रैल को खुल जाएगा लॉकडाउन ? – अगर खुल तो क्या होंगी शर्तें

174

संसार क्रान्ति: करोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा पूरे भारत में 21 दिन का लॉकडाउन घोषित किया गया हैं. यह लॉकडाउन 14 अप्रैल को खत्म होना हैं. मगर सोशल मीडिया पर कुछ लोगों का ये कहना हैं की भारत में लॉकडाउन कम से कम 3 महीने तक चलेगा. चलिए आज इस लॉकडाउन की बारीक बातों पर नजर डालते हैं.

लॉकडाउन को हिंदी में तालाबंदी कहा जा सकता हैं. भारत में लॉकडाउन करने का एक ही उद्देश्य था की दुनियभर में तेज़ी से फैल रहे करोना वायरस के संक्रमण को भारत में रोकना. लॉकडाउन में हमारी बसें, रेल सेवा, दुकानें आदि सब बंद हैं केवल रोज की ज़रूरत जैसे खाने का समान आदि की दुकानें ही खुली हैं. अब लॉकडाउन खुलने की बात करें तो बीतें शुक्रवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसके सम्बंध में अधिकारियों की बैठक ली हैं. जिसमें कहा गया हैं की लॉकडाउन खुलने का मतलब पूरी तरह से छूट नहीं हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक यूपी सरकार 14 अप्रैल को लॉकडाउन खुलने की सूरत में भी कई बन्दिशें बरकरार रखेगी.

मीडिया रिपोर्ट में बताया गया की सरकार का साफ-साफ मकसद यह होगा की लॉकडाउन खुलने के बाद भी सोशल डिस्टेंसिंग बरकरार रहें व किसी किस्म की अफरा तफ़री ना मचें. सूत्रों के मुताबिक स्कूल व कॉलेज अभी बंद रह सकते हैं. लॉकडाउन खुलने के बाद पहले उन लोगों को घर पहुँचाया जाएगा तो इन 21 दिन से इधर-उधर फँसा हुआ हैं. परिवहन सेवाएँ सीमित रूप से चलाई जाएगी.

सूत्रों की माने तो सरकार पहले वहाँ लॉकडाउन हटाएगी जहां कोरोना का संक्रमण बहुत कम हैं. जहां-जहां जिन जिलों में तबलिगी जमात के लोग पहुँचे हैं उन जिलों कि जाँच पूरी होने तक बंदिश रहेगी. अगर 15 अप्रैल को लॉकडाउन खुलता है तो उसमें सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखा जाएगा. मॉल और सिनेमा घर या जहां पर ज़्यादा मात्रा में लोग इकट्ठे होतें हैं उन जगहों पर फ़िलहाल लॉकडाउन रह सकता हैं.

Previous articleपुलिस वालों को धौंस दिखाने वाला वकील हुआ सस्पेंड
Next article75 पुलिस वालों ने करवाया मुंडन – जानिए वजह