यमुना नदी का जलस्तर खतरे के निशान के पास – बाढ़ से निपटने की पूरी तैयारी

243

इन दिनों पूरे उत्तर भारत समेत दिल्ली में बारिश का सिलसिला लगातार ज़ारी है. बारिश के बाद अब हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज में पानी छोड़ा जा चुका है जिसके चलते दिल्ली की यमुना नदी का जल स्तर लगातार तेजी से बढ़ रहा है. सोमवार सुबह जारी की गई रिपोर्ट्स के अनुसार यमुना का जल स्तर 204 मीटर से कहीं ज्यादा दर्ज किया गया.

बताया जा रहा है कि हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से पानी छोड़ने के बाद सोमवार को दिल्ली के यमुना ब्रिज का जल स्तर करीबन 204.38 मीटर तक का रहा है जोकि भाढ़ के खतरे के करीब पहुँच चुका है.

इस बारे में दिल्ली के जल मंत्री श्री सत्येंद्र जैन ने जानकारी देते हुए कहा कि सरकार पूरी तरह से इस विपदा से निपटने के लिए तैयार है. सत्येंद्र ने कहा कि जल विभाग लगातार पानी के स्तर पर नज़र गढ़ाए बैठा है ऐसे में यदि आपदा की स्तिथि बनती है तो वह पूरी तरह से उस खतरे का सामना करने के लिए तैयार हैं. उन्होंने बताया कि भाढ़ की स्तिथि पर नियंत्रण करने के लिए विशेष प्रणाली बनाई गई है जिसका खुलासा वक़्त आने पर किया जाएगा. इस बीच यमुना से लेकर पल्ला गाँव और ओखला जैसे क्षेत्रों के लिए योजनायें बनाई जा रही हैं.

एक उच्च अधिकारी द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक सोमवार की सुबह आठ बजे हरियाणा के हथिनी कुंड बैराज से दिल्ली के यमुना पर पानी छोड़ा गया था. यह पानी लगभग 5,883 क्यूसेक था जिसके चलते अब यमुना में पानी का स्तर काफी बढ़ चुका है. अधिकारी के अनुसार यह खतरे का चिन्ह है. बता दें कि एक क्यूसेक का अर्थ है 28.317 लीटर पानी प्रति सेकेंड.

Previous articleCM मनोहर लाल खट्टर को हुआ कोरोना – खुद दी जानकारी
Next articleसड़क के रास्ते दिल्ली से लंदन के लिए जाएगी बस – जाने क्या होगा किराया